Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


पुलिस ने मुठभेड़ में किए दो आरोपी गिरफ्तार कृष्णा कॉलेज में बी.फार्मा प्रथम वर्ष का छात्र है मुख्य आरोपी

बिजनौर। कृष्णा कालेज के छात्र शामिक द्वारा सहपाठियों के सामने बेइज्जती किए जाने से क्षुब्ध होकर कालेज के ही छात्र ने उसकी हत्या की थी। पुलिस ने इस हत्याकांड का खुलासा करते हुए दोनों हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
शनिवार दोपहर पुलिस लाइन सभागार में प्रेसवार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने बताया कि 23 नवंबर को कृष्णा कॉलेज के छात्र शामिक (18 वर्ष) पुत्र सरवर अली निवासी मोहल्ला पीरजादगान झालू की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में थाना कोतवाली शहर पुलिस ने यश उर्फ उमंग पुत्र मुनेन्द्र सिंह निवासी मोहल्ला महाजनान झालू व एक अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया था। घटना की संवेदनशीलता के दृष्टिगत हत्यारोपी यश पर पुलिस अधीक्षक द्वारा 25 हजार का ईनाम भी घोषित कर दिया गया था।

अपर पुलिस अधीक्षक नगर प्रवीण रंजन व क्षेत्राधिकारी नगर अनिल कुमार के पर्यवेक्षण में स्वाट/सर्विलांस टीम व थाना कोतवाली शहर पुलिस ने शुक्रवार देर रात करीब एक बजकर 10 मिनट पर झालू रोड स्थित प्राचीन मां कालिका मन्दिर के पास चैकिंग करते हुए संदिग्ध मोटरसाइकिल को रोकने का प्रयास किया। आरोप है कि मोटरसाईकिल सवार बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। पुलिस ने घेराबंदी करते हुए यश व उसके साथी रोहन उर्फ मोहन पुत्र संजीव कुमार निवासी ग्राम त्रिलोकपुर (हल्दौर) को गिरफ्तार कर लिया। इनके कब्जे से दो तमंचे 315 बोर मय 4 जिंदा कारतूस व 1 खोखा कारतूस तथा घटना में प्रयुक्त मोटरसाईकिल बरामद कर ली। पुलिस पूछताछ में रोहन ने स्वीकार किया कि वह भी कृष्णा कॉलेज में बी.फार्मा प्रथम वर्ष का छात्र है। शामिक द्वारा छात्राओं के सामने रोहन की बेइज्जती की जाती थी, जिससे उसे काफी शर्मिन्दगी उठानी पड़ती थी। रोहन ने कई बार उसे ऐसा करने से मना किया किन्तु शामिक नहीं माना और उल्टा रोहन को ही डराता-धमकाता था। इससे क्षुब्ध होकर रोहन ने अपने साथी यश उर्फ उमंग के साथ मिलकर शामिक को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया।

खुलासा करने वाली पुलिस टीम~ हत्यारोपियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक रविन्द्र कुमार वशिष्ठ, निरी. विरेन्द्र तोमर, उ.नि. मीर हसन, सुभाष धनकड, जुगेन्द्र तेवतिया, आरक्षी अरविन्द कुमार, निखिल, मंजीत व विनीत कुमार के साथ प्रभारी स्वाट/सर्विलांस टीम शामिल रहे।

23 नवंबर का है मामला~ गौरतलब है कि 23 नवंबर को दोपहर 3:40 मिनट पर कृष्णा कॉलेज बिजनौर में बीबीए का छात्र शामिक अपनी सहपाठी के साथ कॉलेज से पढ़कर घर की ओर जा रहा था। कॉलेज से कुछ कदम की दूरी पर बाईक सवार दो नकाबपोश युवकों ने ताबड़तोड़ गोली मारकर शामिक की हत्या कर दी और वारदात को अंजाम देकर आराम से फरार हो गए थे।

सीसीटीवी फुटेज से हुई पहचान~ सीसीटीवी फुटेज से दोनों कातिलों की पहचान रोहन व यश चौधरी के रूप में हुई। पिछले तीन दिन से पुलिस की कई टीम दोनों आरोपियों की धरपकड़ के लिए ताबड़तोड़ दबिश दे रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *